दिल्ली सरकार के खेल कॉलेज आईजीआईपीईएसएस- विकासपुरी में जोरशोर से चल रहा है योग शिविर -

दिल्ली सरकार के खेल कॉलेज आईजीआईपीईएसएस- विकासपुरी में जोरशोर से चल रहा है योग शिविर

Share us on
502 Views

  • योग शिविर का उद्घाटन कॉलेज की संचालन समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र जगलान ने किया
  • यू-ट्यूब पर कार्यक्रम की लाइव स्ट्रीमिंग और देश भर से प्रतिभागियों के ऑनलाइन शामिल होने की सुविधा है
  • लगभग 120+ प्रतिभागी नियमित रूप से संस्थान के जिम्नेजियम हॉल में स्वयं उपस्थित योग कर रहे हैं

खेल टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के खेल कॉलेज आईजीआईपीईएसएस- विकासपुरी ने विद्यार्थियों के साथ आम लोगों में स्वस्थ जीवन शैली की आदत विकसित करने और योग के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से 21 मई से 21 जून तक ” जन समुदाय के लिए एक महीने का योग शिविर” आयोजित किया हुआ है।

इस योग शिविर का उद्घाटन इंदिरा गांधी शारीरिक शिक्षा और खेल विज्ञान संस्थान (आईजीआईपीईएसएस ) की संचालन समिति के अध्यक्ष श्री सुरेंद्र जगलान के कर कमलों द्वारा किया गया । कोषाध्यक्ष श्री सुरेंद्र कुमार जी ने विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित होकर प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाया।
कार्यवाहक प्राचार्य प्रो. संदीप तिवारी ने मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि का स्वागत करते हुए यू-ट्यूब पर कार्यक्रम की लाइव स्ट्रीमिंग की और देश भर से प्रतिभागियों के ऑनलाइन शामिल होने की सुविधा के उपलब्ध होने के बारे में जानकारी दी।
उपरोक्त कार्यक्रम का संचालन प्रो. जे.पी. शर्मा एवं प्रो. तारकनाथ प्रमाणिक द्वारा प्रो. संदीप तिवारी, प्राचार्य (कार्यवाहक) की देखरेख में किया जा रहा है।

कार्यक्रम के लिए कुल 277 प्रतिभागियों ने पंजीकरण कराया है और लगभग 120+ प्रतिभागी नियमित रूप से संस्थान के जिम्नेजियम हॉल में स्वयं उपस्थित योग शिविर का लाभ उठा रहे हैं
तब से प्रतिदिन सुबह 7.00 बजे से 8.45 बजे तक योग कार्यक्रम निरंतर जारी है, जिसमें जन समुदाय के लोगों को स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए विभिन्न आसन और प्राणायाम सिखाए जाते हैं |


28 मई, 2022 को प्रो. बलराम पाणि, जिन्होंने मुख्य अतिथि के रूप में अपनी उपस्थिति के साथ समारोह की शोभा बढ़ाई और योग के अभ्यास के माध्यम से स्वस्थ जीवन शैली अपनाने पर जोर दिया।
योग शिविर का समापन आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून, 2022 को होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.