दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप का किया उद्घाटन -

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप का किया उद्घाटन

Share us on
253 Views

दिल्ली की फुटबॉल को देश में नंबर 1 बनाने के सपने को साकार करेगा ये टूर्नामेंट: मनीष सिसोदिया

  • शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप ने पहली बार दिल्ली के प्रमुख फुटबॉल क्लबों को एक साथ लाने का किया काम, इससे दिल्ली में फुटबॉल संस्कृति को मिलेगा बढ़ावा
  • हमारे खिलाड़ी बड़ा सपना देखे प्रशिक्षण के दौरान करें कड़ी मेहनत, वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं मुहैया कर उनके सपनों को पूरा करेगी केजरीवाल सरकार
  • दिल्ली में फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कैर, मुन्डेला व आनंदवास विकसित किए  इंटरनेशनल मानकों के 3 आर्टिफीसियल टर्फ फुटबॉल ग्राउंड
खेल टुडे ब्यूरो
नई दिल्ली : केजरीवाल सरकार दिल्ली में खेलों को बढ़ावा देने के क्रम में एक और कदम बढ़ाते हुए शहीदे-आजम भगत सिंह को समर्पित करते हुए शहीद भगत सिंह फुटबॉल कप का आयोजन करवा रही है| इस दिशा में उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को त्यागराज स्टेडियम में  दिल्ली सरकार के शिक्षा व खेल निदेशालय द्वारा आयोजित किए जा रहे इस फुटबॉल टूर्नामेंट का उद्घाटन किया| इस अवसर पर श्री सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में पहली बार दिल्ली के फुटबॉल क्लब्स को एक साथ लाकर इतने बड़े स्तर पर लाकर टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है, इससे दिल्ली में फुटबॉल कल्चर को बढ़ावा मिलेगा| उन्होंने कहा कि ऐसे  टूर्नामेंट से न केवल दिल्ली को फुटबॉल के क्षेत्र में अव्वल लाने में मदद मिलेगी बल्कि हम फुटबॉल के उभरते सितारों की पहचान भी कर पाएंगे|  उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपने खेल में मेहनत करें शानदार प्रदर्शन करें, दिल्ली सरकार उन्हें सुविधाओं की कमी नहीं होने देगी|

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में युवाओं में टैलेंट की कमी नहीं है| हमारे युवा सपना देखे दिल्ली सरकार वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं मुहैया कर उनके सपनों को पूरा करने का काम करेगी| उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने पिछले कुछ सालों में त्यागराज स्टेडियम, छत्रसाल स्टेडियम, ईस्ट-विनोद नगर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, पूंठ कलां व बवाना में राजीव गाँधी आदि स्टेडियमों में शानदार सुविधाएं विकसित की है| साथ ही साथ सरकार ने सरकार द्वारा फुटबॉल को बढ़ावा और खिलाडियों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं देने के लिए कैर, मुन्डेला व आनंदवास में इंटरनेशनल मानकों के 3 आर्टिफीसियल फुटबॉल ग्राउंड भी विकसित किए गए है|

इस प्रकार के फुटबॉल टूर्नामेंट के माध्यम से दिल्ली सरकार का विज़न दिल्ली के स्कूलों, कॉलेजों में अंतराष्ट्रीय स्तर के लीगों के अनुरूप स्पोर्ट्स कल्चर डेवलप करना है| जहां दिल्ली भर के शीर्ष क्लब भाग ले सकते हैं। खेल के प्रति अपनी प्राथमिकता दिखाते हुए केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के विभिन्न स्टेडियमों जैसे छत्रसाल स्टेडियम, त्यागराज स्टेडियम, पूर्वी विनोद नगर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, पूथकलां स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, राजीव गांधी स्टेडियम, बवाना सहित  कई अन्य में स्थानों पर खेल संबंधित बुनियादी सुविधाओं को बेहतर करने का काम किया है|

क्या ख़ास है इस टूर्नामेंट में
– ये टूर्नामेंट 2 महीने तक चलेगा जिसमें 20 टीमों के बीच 98 मैच का आयोजन किया जाएगा|
– टूर्नामेंट में अंडर 18 और अंडर 22 आयुवर्ग के खिलाड़ी भाग ले सकेंगे|
– टूर्नामेंट की विजेता टीम को दी जाएगी 5 लाख रुपये की पुरस्कार राशि, उपविजेता टीम तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम को मिलेंगी  क्रमशः 2.5 लाख रुपये और 1 लाख रुपये की राशि
– सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी को मिलेगा ‘गोल्डन बूट अवार्ड’ के साथ दी जाएगी 1 लाख रूपये की पुरस्कार राशि
– दिल्ली के 5 अलग-अलग स्टेडियमों में किया जाएगा मैचों का आयोजन, मैचों का सीधा प्रसारण भी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.