सूर्यकुमार यादव का फॉर्म ऐसा है कि आप पीछे से उनका बल्ला और पैर पकड़कर ही उनको रन बनाने से रोक सकते हैं: जहीर खान -

सूर्यकुमार यादव का फॉर्म ऐसा है कि आप पीछे से उनका बल्ला और पैर पकड़कर ही उनको रन बनाने से रोक सकते हैं: जहीर खान

Share us on
344 Views

जहीर खान।

 खेल टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। सूर्यकुमार यादव एक बार फिर अपने चरम सर्वश्रेष्ठ पर थे, उन्होंने 83 रन (35गेंदें, 7×4, 6×6) की पारी खेली, जिसकी मदद से मुम्बई इंडियंस ने मंगलवार की उमस भरी रात को वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए टाटा आईपीएल 2023 के मैच नंबर 54 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) को हरा दिया।

जीत के लिए 200 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य को एमआई ने 16.3 ओवर में भेद डाला और छह विकेट से जीत हासिल की। नेहल वढेरा ने भी बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए 34 गेंदों में नाबाद 52 रन बनाए। उनकी पारी में चार चौके और तीन छक्के शामिल हैं।

Surya Kumar Yadav

सूर्यकुमार यादव।

 इससे पहले, आरसीबी ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए 199/6 स्कोर किया, जिसका मुख्य श्रेय कप्तान फाफ डु प्लेसिस के 65 (41गेंदें, 5×4, 3×6) और ग्लेन मैक्सवेल के 68 (33गेंदें, 8×4, 4×6) को जाता है।

इस जीत से मुम्बई के 11 मैचों में 12 अंक हो गए हैं और वो अब 10 टीमों की तालिका में तीसरे स्थान पर है। दूसरी ओर, आरसीबी 11 मैचों में 10 अंकों के साथ 7वें स्थान पर है और प्ले-ऑफ की दौड़ तेज होती जा रही है।

जियोसिनेमा टाटा आईपीएल विशेषज्ञ जहीर खान को विश्वास नहीं हो रहा था कि यादव कितनी आसानी से स्थितियों पर हावी होगा। उन्होंने कहा, “उन्हें पीछे से सूर्यकुमार यादव का बल्ला पकड़ने और उनके पैर खींचने की जरूरत हैं, वह ऐसी बल्लेबाजी कर रहे हैं। मुश्किल दौर था लेकिन जब उन्होंने अपनी लय पकड़ी तो हालात अच्छे और भी बेहतर होते चले गए। यह गेंदबाजों के लिए कभी भी अच्छी खबर नहीं होगी।”

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, “जिस तरह से वह बल्लेबाजी करते हैं और जिस तरह से वह अप्रोच करते हैं, कोई भी फील्ड प्लेसमेंट विपक्षियों की मदद नहीं कर सकता है। हर बार जब मैं उन्हें बैटिंग करते हुए देखता हूं, तो ऐसा लगता है कि गेंदबाज ऑफ स्टंप के बाहर गेंदबाजी करने की कोशिश करते हैं, चार खिलाड़ियों के साथ गैप्स को पैक कर देते हैं, और एसकेआई फिर भी चौके मार रहा होता है और आप उन्हें ऐसे रोक नहीं सकते हैं।”

टाटा आईपीएल के इतिहास में यह तीसरी बार था जब मुम्बई ने 17 ओवर में 190 रन या उससे अधिक के लक्ष्य को हासिल किया, ऐसा करने वाली वो एकमात्र टीम है।

जियोसिनेमा टाटा आईपीएल विशेषज्ञ सुरेश रैना ने सीजन की धीमी शुरुआत के बावजूद इस वापसी के लिए टीम में प्रचलित विजेता संस्कृति को श्रेय दिया। उन्होंने कहा, “सूर्यकुमार यादव के जश्न ने दिखाया कि एक टीम कितनी आसानी से 200 रनों का पीछा कर सकती है। वह शानदार फॉर्म में है और यह हमें याद दिलाता है कि एमआई लक्ष्य को भेदना और वापस करना जानती है। उन्होंने पांच बार ट्रॉफी जीती है और हर साल उनके लॉकर रूम में एक मैच विनर होता है। चाहे तिलक वर्मा हों, वढेरा हों, ग्रीन हों, टिम डेविड हों और सबसे बड़े पीयूष चावला हों। वह एमआई के लिए विकेट लेने के लिए हमेशा महत्वपूर्ण क्षणों में गेंदबाजी करते हैं। यही वजह है कि आईपीएल में उनका दबदबा है। अंक तालिका में 8वें से तीसरे स्थान पर पहुंचना हर टीम के लिए संभव नहीं है।”

एक अन्य जियोसिनेमा टाटा आईपीएल विशेषज्ञ ग्रीम स्मिथ ने एमआई के प्रभावी दो बिंदुओं पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा, “हमने आज रात दो बिंदुओं के महत्व के बारे में बात की। मैं बस सोच रहा था, मुझे याद नहीं है कि एमआई ने इस सीजन में एक शानदार मैच कब खेला था, लेकिन, उन्होंने खुद को किसी तरह टेबल में तीसरे स्थान पर पाया। आज रात के दो अंक महत्वपूर्ण थे। उन्हें 200 रन का पीछा करना था और गेंदबाज उदास दिखे। लेकिन आज रात उनके लिए कई सकारात्मक चीजें थीं। उन्हें कैचिंग में सुधार की जरूरत है लेकिन बल्ले के साथ दूसरे हाफ में उन्होंने खेल जीत लिया। वे लक्ष्य का पीछा करने वाली शानदार टीम हैं, मजबूत बल्लेबाजी इकाई हैं और उन्होंने कुछ बेहतरीन प्रदर्शन करके अपना दबदबा दिखाया है।”

बुधवार शाम 7:30 बजे चेन्नई सुपर किंग्स का सामना दिल्ली कैपिटल्स से होगा। मैच जियोसिनेमा पर लाइव आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.