उत्तर प्रदेश में खेलों का नया गढ़ बनी बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी -

उत्तर प्रदेश में खेलों का नया गढ़ बनी बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी

Share us on
240 Views

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2022 में खिलाड़ियों को भा रही है मेजबान यूनिवर्सिटी, खेल गांव की सुविधाओं को भी सराहा जा रहा है 

लखनऊ में बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी के डॉ अखिलेश दास गुप्ता स्टेडियम में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2022 के उद्घाटन समारोह का विहंगम दृश्य।

अशोक किंकर 

लखनऊ।  खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की शुरुआत साल 2020 में हुई थी। इसके बाद कोविड महामारी के चलते 2021 में गेम्स नहीं हो सके थे। इसके बाद 2022 में बेंगलुरू के जैन यूनिवर्सिटी (डीम्ड) में दूसरे खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 हुए थे।

वहीं खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 के तीसरे संस्करण की मेजबानी  उत्तर प्रदेश कर रहा हैं। वहीं ये अत्यंत गौरवशाली पल है कि इन खेलों के लिए मेजबान यूनिवर्सिटी बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी को बनाया गया है। इसके साथ ही यहां इस यूनिवर्सिटी में खेल गांव भी बनाया गया है। 

यहां खिलाड़ियों को तमाम तरह की सुविधाएं मुहैया करायी जा रही है  और बीबीडी यूनिवर्सिटी की चांसलर श्रीमती अलका दास गुप्ता के मार्गदर्शन और बीबीडी यूनिवर्सिटी के प्रो-चांसलर श्री विराज सागर दास गुप्ता के नेतृत्व में खिलाड़ियों का पूरा ख्याल रखा जा रहा है।

लखनऊ में इन खेलों की कवरेज करते हुए हमने देखा है कि उस यूनिवर्सिटी में किस तरह ले बेहतरीन सुविधाएं हैं और कैसे श्री विराज खुद घूम घूम कर सारी गतिविधियों पर नजर रखते रहे हैं। 

वैसे बीबीडी यूनिवर्सिटी का जब भी जिक्र होता है तो सबसे पहले हमारे जहन में स्वर्गीय श्री डॉ अखिलेश दास गुप्ता का नाम सामने आता है। हालांकि आज वो हमारे बीच नहीं है लेकिन आज अगर यूपी खेलों का नया सरताज बना है तो इसमें डॉ अखिलेश दास गुप्ता का बड़ा योगदान है।

डॉ अखिलेश दास गुप्ता ने अपनी पूरी जिंदगी भारतीय खेलों को आगे बढ़ाने में लगा दी। बैडमिंटन एसोसिएशन के जब वो अध्यक्ष बने तो उन्हीं की के प्रयासो का नतीजा है कि भारत ने बैडमिंटन में ओलंपिक में तीन पदक (साइना नेहवाल-कांस्य, पीवी सिंधु- रजत व कांस्य पदक) जीते और कई  अन्य प्रतिभाएं सामने आई। 

डॉ अखिलेश दास गुप्ता ने अपने पिता उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वतंत्रता सेनानी बाबू बनारसी दास के नाम पर बीबीडी यूनिवर्सिटी सहित कई  इंजीनियरिंग संस्थान भी खोले। आज बीबीडी यूनिवर्सिटी लखनऊ का बेहद प्रतिष्ठित संस्थान है। 

हालांकि उनके निधन के बाद खेल जगत में एक खालीपन जरूर आ गया था लेकिन उनके बेटे बीबीडी ग्रुप के चेयरमैन श्री विराज सागर दास गुप्ता भी उन्हीं के नक्शे कदम पर चल रहे हैं  और खेलों को बढ़ावा देने के लिए तैयार रहते हैं। 

श्री विराज सागर दास गुप्ता वर्तमान में  यूपी ओलंपिक एसोसिशन के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश बैडमिंटन संघ के चेयरमैनहैं। वह यूपी में खेलों के विकास के लिए सतत काम कर रहे हैं। 

बीबीडी यूनिवर्सिटी में बने खेल गांव में उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों से आने वाले खिलाडिय़ों एवं सपोर्टिंग स्टाफ के लिए बेहतर परिवहन, खाने एवं ठहरने की व्यवस्था की जा रही है और उनकी सुविधा के लिए रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन एवं एअरपोर्ट पर हेल्प डेस्क स्थापित की गई है।

तीसरे खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 में लखनऊ में सबसे ज्यादा आयोजित 12 विभिन्न खेलों की स्पर्धाओं में कई उम्दा खिलाड़ी भाग ले रहे है। वहीं बीबीडी यूनिवर्सिटी द्वारा इनमें से कुछ स्पर्धाओं की मेजबानी की जा रही है। 

यहां यह भी बताते चले कि बीबीडी यूनिवर्सिटी परिसर में ही डा.अखिलेश दास गुप्ता स्टेडियम है, जहां रणजी ट्राफी सहित प्रथम श्रेणी क्रिकेट के कई मुकाबलों का आयोजन हुआ है जिसमें कई दिग्गज क्रिकेटरों ने अपने खेल का कमाल दिखाया है।

इस स्टेडियम में  20,000 से अधिक दर्शक बैठ सकते है। स्टेडियम का उपयोग बड़े पैमाने पर क्रिकेट, फुटबॉल और हॉकी और एथलेटिक्स (फील्ड और ट्रैक इवेंट) जैसे आउटडोर खेलों के लिए होता है। अन्य आउटडोर खेलों के लिए परिसर में वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, लॉन टेनिस और बैडमिंटन के लिए कई कोर्ट हैं। इन-कैंपस हॉस्टल के छात्रों को टेबल टेनिस, कैरम और शतरंज आदि इंडोर खेलों की सुविधा मिलती है।

खिलाड़ियों और अधिकारियों को दी गई ए/सी स्टार आवासीय सुविधा : श्रीमती अलका दास गुप्ता

अलका दास गुप्ता।

बीबीडी यूनिवर्सिटी की चांसलर श्रीमती अलका दास गुप्ता ने कहा कि बीबीडी यूनिवर्सिटी को इस खेल महाकुंभ में खेल गांव बनाया गया है।  यहां  बीबीडीयू यूनिवर्सिटी परिसर में रहने वाले सभी खिलाड़ियों और अधिकारियों को ए/सी स्टार होटल के जैसी आवासीय सुविधा प्रदान की गई है। हम  बीबीडी यूनिवर्सिटी को खेल गांव बनाने और यहां कैंपस में शानदार टूर्नामेंट की मेजबानी का मौका देने के लिए यूपी के माननीय सीएम योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद देते है। हमें विश्वास है कि यह आयोजन मलखंभ और योग जैसे पारंपरिक खेलों के साथ-साथ सभी ओलंपिक खेलों को भी बढ़ावा देगा।

हम सौभाग्यशाली है कि बीबीडी यूनिवर्सिटी को इस ऐतिहासिक आयोजन की मेजबानी का मौका  मिला : विराज सागर दास

विराज सागर दास गुप्ता।

बीबीडी यूनिवर्सिटी के प्रो-चांसलर श्री विराज सागर दास गुप्ता ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स-2022 उत्तर प्रदेश की मेजबानी पर गर्व जताते हुए कहा कि यह अत्यंत सुखद है कि उत्तर प्रदेश धीरे-धीरे खेलों का नये हब के रूप में भी देश एवं दुनिया में पहचाना जाने लगा है।

उन्होंने कहा कि हम सौभाग्यशाली है कि बीबीडी यूनिवर्सिटी को इस ऐतिहासिक आयोजन की मेजबानी का मौका मिला।  ये हमारे लिए बहुत बड़े सम्मान की बात  है। हम बीबीडी यूनिवर्सिटी को खेल गांव का दर्जा प्रदान करने और कई स्पर्धाओं की मेजबानी  मौका देने के लिए उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के साथ खेल मंत्रालय और उत्तर प्रदेश सरकार  का तहेदिल से शुक्रिया अदा करते हैं। 

उन्होंने कहा कि हम इस भव्य आयोजन के उत्कृष्ट प्रबंधन के लिए समर्पित कर्मचारियों, छात्रों, मीडिया कर्मियों, फोटोग्राफरों और पूरे बीबीडी यूनिवर्सिटी समूह का आभार जताते हैं।

हम हजारों प्रतिभाशाली छात्र एथलीटों के लिए अपने दरवाजे खोलना और उन्हें अपने कौशल का प्रदर्शन करने के लिए एक मंच प्रदान करने को एक बड़ा सम्मान मानते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.