30 दिन, 100 से अधिक फंडरेजर, 53 एनजीओ, नेक काम के लिए जुटाए गए 1.59 करोड़ रुपये -

30 दिन, 100 से अधिक फंडरेजर, 53 एनजीओ, नेक काम के लिए जुटाए गए 1.59 करोड़ रुपये

Share us on
499 Views

पंजाब केसरी अखबार के चीफ फोटोग्राफर मिहिर सिंह को बेस्ट फोटोग्राफी के लिए फर्स्ट प्राइज मिला।

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन ने समाज को वापस देने की अपनी विरासत का जश्न मनाया

खेल टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली: अक्टूबर में आयोजित प्रतिष्ठित 17वीं वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन समाज के जरूरतमंदों को वापस देने‘ की भावना को कायम रखने के लिए दिल्ली के नागरिकभारतीय उद्योग जगत और सरकार एकजुट हुए। फिलैंथ्रॉपी पार्टनर-यूनाइटेड वे दिल्ली के साथ 30-दिन की धन जुटाने वाले विंडो में भाग लेने वाले एनजीओफंडरेजर्स और कॉर्पोरेट्स द्वारा #EachStepCounts के आदर्श नारे साथ विभिन्न नेक कार्यों के लिए 1.59 करोड़ जुटाए गए!

काज न्यूट्रल प्लेटफार्म होने के नाते- वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन से कई दिशाओं में काम करने वाले एनजीओ जुड़े थे। इनमें प्रारंभिक बाल देखभाल और विकासशिक्षा और युवा सफलतास्वास्थ्य और कल्याणवित्तीय स्थिरतापर्यावरण और स्थिरताआपदा प्रतिक्रिया और तैयारी तथा विविधता और समावेश शामिल हैं। धन जुटाना इन सबका एक प्लेटफार्म पर आना एक पहलू है। इन सबके अलावा वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन 2022 ने साझा महत्व के मुद्दों पर बातचीत शुरू करने के लिए भागीदार गैर सरकारी संगठनों को एक सार्थक मंच प्रदान किया।

अपनी स्थापना के बाद से राष्ट्रीय राजधानी के इस प्रतिष्ठित हाफ मैराथन ने दान के रूप में 79.35 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए हैं।

इस आयोजन का एक महत्वपूर्ण पहलू यह था कि युवाओं ने कॉज चैंपियन के रूप में काम कियाजागरूकता बढ़ाई और अपने दिल के करीब रहने वाले कारणों के लिए धन जुटाया और ऐसा करते हुए जरूरतमंद लोगों का समर्थन किया। इस कार्यक्रम में 335 कर्मचारियों के साथ 14 कॉरपोरेट्स की भागीदारी भी देखी गईजो विभिन्न सामाजिक क्षेत्र के संगठनों के झंडे लिए हुए थे। इन सबने इस वर्ष जुटाई गई कुल राशि में 60% फीसदी के करीब का योगदान दिया।

इस वर्ष के संस्करण के बारे में यूनाइटेड वे दिल्ली की बोर्ड अध्यक्ष रीना कौशल ने कहा, “शहर ने इस वर्ष 16 अक्टूबर को इस प्रतिष्ठित मैराथन का अनुभव किया। दिल्ली की सड़कों पर न केवल भारत और विश्व भर के हजारों धावकों के पदचिन्ह देखे गए बल्कि ये सब एक साथ मिलकर हजारों जरूरतमंद लोगों के जीवन में बदलाव लाने का कारक बने।

इवेंट के परोपकारी अभियान को बढ़ावा देने वाले वेदांता लिमिटेड और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक एक मंच पर आए। ये इवेंट के क्रमशः टाइटल स्पॉन्सर और एसोसिएट स्पॉन्सर थेजिन्होंने दुनिया के इस प्रतिष्ठित हाफ मैराथन के साथ अपने पहले जुड़ाव को अभिनव सामाजिक प्रभाव अभियानों के साथ चिह्नित किया।

भारतीय उद्योग समूह वेदांता के #RunForZeroHunger अभियान ने अपनी प्रमुख सामाजिक प्रभाव पहल -नंद घर- के माध्यम से रेस के दौरान प्रत्येक किलोमीटर के लिए एक जरूरतमंद बच्चे के लिए पौष्टिक भोजन का इंतजाम किया। इस आयोजन से कुल मिलाकर 20 लाख लोगों के लिए भोजन का इंतजाम हुआ।

वेदांता लिमिटेड की गैर-कार्यकारी निदेशक  सुश्री प्रिया अग्रवाल हेब्बर ने कहा, “प्रतिष्ठित वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के 17वें संस्करण में जोश और उत्साह का अद्भुत नजारा दिखा। दुनिया भर से 40,000 से अधिक लोगों ने इस प्रतिष्ठित रेस में भाग लिया। इस आयोजन ने मानवता की भावना से दिल्ली की सड़कों को रंग दिया। ये सभी एक बड़े उद्देश्य के लिए दौड़े। वे सभी जीरो हंगर के लिए दौड़े! रेस के दिन 26,000 धावक और 15,000 वेदांता परिवार एक साथ आए और 20 लाख लोगों के लिए भोजन का इंतजाम किया।। हमारी-नंद घर- पहल के माध्यम सेहम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि ये 20 लाख पौष्टिक भोजन बच्चों को उनके स्वस्थ भविष्य के लिए परोसा जाए।

टेक्नोलॉजी आधारित बैंक ने अपने रनर्स प्लेज के तहत तेजी से फिनिश करने वालों को पुरस्कृत करते हुए तेज भागने वालों को प्रोत्साहित किया। इसप्लेज के तहत एक नियत समय के भीतर 10K और हाफ मैराथन पूरा करने वालों को पुरस्कृत किया गया। सफल धावक अपने प्रिय सामाजिक कारणों के लिए उन्हें मिलने वाली पुरस्कार राशि में से योगदान कर सकते थे।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर- नारायण टीवी ने कहा ”मैराथन अक्सर खुद को बेहतर बनाने और जन्मजात शक्तियों को पहचानने का अवसर देते हैं। आईडीएफसी फर्स्ट बैंक रनर्स प्लेज ने प्रतिभागियों को अपने प्रिय कारणों का समर्थन करने की दिशा सक्षम बनाया और इस तरह सामाजिक भलाई के बड़े उद्देश्य में योगदान दिया। धावकों की प्रतिज्ञा के तहतबैंक ने नियत समय में नियत दूरी तय करने वाले धावकों के बैंक खातों में धनराशि जमा कीजिसका उपयोग वे सामाजिक कार्यों के लिए कर सकते हैं। फिनिशर जो इस इनाम के लिए योग्य थेउनके पास उन सामाजिक कार्यों में योगदान करने के लिए धन का उपयोग करने का विकल्प थाजिन पर वे विश्वास करते हैं और वास्तविक प्रभाव पैदा करते हैं। उनमें से कई के लिएफिनिश लाइन तक यात्रा बीच में ही समाप्त हो गई थीलेकिन सामाजिक भलाई करने की उनकी #JourneyToTheStart अभी शुरू हुई है।

जमीनी स्तर के संगठनों की रणनीतिक मदद और उन्हें वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन परोपकारी कार्यों का लाभ उठाने में मदद करना यूनाइटेड वे दिल्ली के लिए एक प्रमुख फोकस था। इस उद्देश्य की सफलता और दृश्यता से खुश होकर कई भागीदार संगठनों ने अगले संस्करण के लिए अभी से विचार-मंथन और चर्चा शुरू कर दी है।

रेस प्रमोटर्स प्रोकैम इंटरनेशनल के ज्वाइंट एमडी विवेक सिंह ने कहा, “चैरिटी ने अनादिकाल से डिस्टेंस रनिंग में एक बड़ी भूमिका निभाई है। वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन को भारत के सबसे बड़े खेल परोपकार मंचों में से एक में बदलने के लिए दिल्ली के लोगों को धन्यवाद। उनकी देने की भावना में उनकी उदार भागीदारी को नमन।

पंजाब केसरी अखबार के चीफ फोटोग्राफर मिहिर सिंह को बेस्ट फोटोग्राफी के लिए फर्स्ट प्राइज मिलने पर उन्हें बधाई देते हुए मेट्रो एडिटर सत्येंद्र त्रिपाठी, डिप्टी ब्यूरो चीफ सुरेंद्र पंडित और सीनियर रिपोर्टर राहुल शर्मा। 

अलग-अलग श्रेणियों के विजेता :

पंजाब केसरी अखबार के चीफ फोटोग्राफर मिहिर सिंह को बेस्ट फोटोग्राफी के लिए फर्स्ट प्राइज मिला।

 चेंज चैंपियंस (हर व्यक्ति ने अपने काज के लिए 10 लाख रुपये जुटाने का लक्ष्य लिया)

चेंज चैंपियन टॉप फंडरेजर: यश पाल सिंघल

द अर्थ सेवियर्स फाउंडेशन के लिए 12,77,000 रुपये जुटाए

-चेंज लीडर (अपने काज के लिए 5 लाख रुपये का लक्ष्य लिया)

विजेता-कॉस्मिक रनिंग

वूमेन स्पोर्ट्स फाउंडेशन के लिए 5,12,000 रुपये जुटाए

 

-चेंज लीडर (अपने काज के लिए 2.50 लाख रुपये का लक्ष्य लिया)

विजेता-अंजलि हेगड़ेजिन्होंने उदयन केयर के लिए 5,00,000 रुपये जुटाए

 

 चेंज इन्वेस्टर (अपने काज के लिए 2.5 लाख रुपये का लक्ष्य लिया)

विजेता-अनिल चावला ने विप्ला फाउंडेशन के लिए 4,42,700 रुपये जुटाए

रन एक्सट्रीम (तरुण वलेचा) ने मैत्रेयाना के लिए 3,11,005 रुपये जुटाए

-चेंज मेकर (अपने काज के लिए 1 लाख रुपये का लक्ष्य लिया)

विजेता-फादर जॉर्ज मैथ्यू

डॉन बॉस्को टेक सोसायटी के लिए 2,48,873 रुपये जुटाए

-यंग लीडर्स

विजेता-शिव खन्ना

विप्ला फाउंडेशन के लिए 92,700 रुपये जुटाए

 कॉर्पोरेट चैंपियंस (कंपनियां जो चुने हुए सीएसओ में योगदान करती हैं)

विजेता-अपोलो टायर्स लिमिटेड

अपोलो टायर्स फाउंडेशन को 18,00,000 रुपये का दान दिया

 

एस एंड पी ग्लोबल

-युवराज सिंह फाउंडेशन को 12,00,000 रुपये का दान दिया

ब्लूस्टार इंडिया लिमिटेड

9,00,000 रुपये दान करके ब्लूस्टार फाउंडेशन का समर्थन किया

कारगिल

यूनाइटेड वे दिल्ली को 9,00,000 रुपये दान करके यूनाइटेड वे दिल्ली का समर्थन किया

-सीएसओ पुरस्कार

उच्चतम धन जुटाने वाला संगठन: 18,14,000 रुपये- अपोलो टायर्स फाउंडेशन

दूसरा उच्चतम: 17,49,808 रुपये- युवराज सिंह फाउंडेशन

तीसरा उच्चतम: 13,31,125 – उदयन केयर। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.