इस सीजन अपने पहले आई लीग मुकाबले में मुंबई के केंकरे एफसी से मुकाबले को तैयार सुदेव दिल्ली एफसी -

इस सीजन अपने पहले आई लीग मुकाबले में मुंबई के केंकरे एफसी से मुकाबले को तैयार सुदेव दिल्ली एफसी

Share us on
69 Views
  •  नए तेवर, नए कलेवर के साथ 2022-23 में अपना अभियान शुरू करेगा
  • आई-लीग खेलने वाले दिल्ली के एकमात्र क्लब का पहला मैच अपने घरेलू मैदान छत्रसाल स्टेडियम में सोमवार शाम 4.30 बजे से होगा
  • सुदेव दिल्ली एफसी पहली बार विदेशी खिलाड़ियों के साथ लीग में उतरेगा
    जापानी कोच अत्सुशी नाकामुरा को टीम की कमान थमाई है

खेल टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। सुदेव दिल्ली एफसी नए तेवर और नए कलेवर में हीरो आई-लीग 2022-23 में उतरेगा। सुदेव के लिए इस बार कोच भी नया होगा, घरेलू मैदान भी नया होगा और विदेशी खिलाड़ी नया कलेवर और तेवर लेकर आएंगे। हीरो आई-लीग खेलने वाले दिल्ली के एकमात्र क्लब का पहला मुकाबला अपने घरेलू मैदान राजधानी मॉडल टाउन स्थित छत्रसाल स्टेडियम में मुम्बई के केंकरे फुटबॉल क्लब से होगा।  इतने सारे बदलाव सुदेव दिल्ली एफसी के लिए कितना काम करेंगे, यह देखने वाली बात होगी।

सुदेव एफसी का घरेलू मैदान दिल्ली का प्रसिद्ध फुटबॉल स्थल डॉ. अम्बेडकर स्टेडियम हुआ करता था लेकिन इस बार एक अन्य आई-लीग क्लब राजस्थान यूनाइटेड ने इस मैदान को अपना घरेलू मैदान बना लिया है। लिहाजा सुदेव को छत्रसाल स्टेडियम को अपना घरेलू मैदान बनाना पड़ा है।

सुदेव क्लब के अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कुछ दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में संकेत दे दिया था कि यह मैदान उनकी टीम के लिए नया होगा, क्योंकि खिलाड़ी इस पर कोई भी मैच नहीं खेले हैं और इसमें उनको अभ्यास के लिए कम समय मिला है।

सुदेव लीग में पहली बार विदेशी खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरने जा रही है, जो कि क्लब की ओर से दूसरा बदलाव है। पिछली बार सुदेव जब आई-लीग में खेली थी, तब दिल्ली के क्लब ने ऑल इंडियन प्लेयर टीम को खिलाया था। लेकिन इस बार त्रिनिदाद के नामी खिलाड़ी डेनियल साइरस (डिफेंडर), घाना के इसाक एस्सेल, नाईजीरिया के फेलिक्स चिडी ओडिली (दोनों फॉरवर्ड) और जापान के कोसुके यामाजाकी उचिडा (मिडफील्डर) सुदेवा की ताकत को बढ़ाएंगे। इन विदेशियों के शामिल होने से अध्यक्ष अनुज गुप्ता काफी उत्साहित हैं और उन्हें बेहतर परिणाम की उम्मीद है।

जब सुदेव पहली बार हीरो आई-लीग सीजन 2021-22 में उतरी थी, तब उसने 11 टीमों की तालिका में आठवें स्थान पर रहकर अपना अभियान समाप्त किया था। उसने 14 मैचों में पांच जीत, तीन ड्रा और छह हार से 18 अंक जुटाए थे। इस दौरान उसने 16 गोल किए थे जबकि 14 खाए थे।

दिल्ली के क्लब में तीसरा व महत्वपूर्ण बदलाव अध्यक्ष अनुज गुप्ता द्वारा जापानी कोच अत्सुशी नाकामुरा को टीम की कमान थमाना है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि अत्सुशी जोशीले युवा एवं विदेशी खिलाड़ियों से सजे क्लब को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे। अनुज ने टीम हर प्रकार से संतुलित बताया।

मैच से पहले टीम के जापानी कोच अत्सुशी नाकामुरा ने कहा, “हाल फिलहाल ही टीम की बागडोर संभाली है। लेकिन सभी खिलाड़ी फिट हैं। टीम के ज्यादातर खिलाड़ी के पास बड़े मैचों को अनुभव नहीं है, लेकिन मुझे यकीन है कि इन्हीं से कुछेक भविष्य में बड़ी पहचान बनाएंगे।” केंकरे एफसी के खिलाफ मैच को लेकर उन्होंने कहा, “मैं विरोधी टीम के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता। लेकिन हम इस मुकाबले में आक्रामक रणनीति अपनाएंगे।”

फुटबॉल प्रेमियों की टीम के कुछ युवा भारतीय खिलाड़ी निश्चल चंद्रा, सचिन झा, लुंकिम खोंगसाई, शुभम रावत और शुभो पॉल पर नजरें रहेंगी, जो आगामी मुकाबले में प्रभाव छोड़ सकते हैं।

सुदेव का दल इस प्रकार है–
गोलकीपर – रक्षित डागर, सचिन झा, लवप्रीत सिंह, आशीष सिबी
डिफेंडर – डेनियल साइरस (त्रिनिदाद), ऑगस्टिन फर्नांडेज, गुरमीत सिंह गिल, साइरुत्किमा, आकाशदीप सिंह, अभिषेक अम्बेकर, पवन के. जोशी, एन. नाओचा सिंह, मोहित सिंह, कमल चौधरी
मिडफील्डर – कोसुके यामाजाकी उचिडा (जापान), कीन लुइस, विलियम पुलिआंखुम, पिंटू माहतम, तोंडोम्बा सिंह नौरेम, लालिआंसांगा रेंथलेई, मोहित मित्तल, वनलालजाहव्मा, नौरेम महेश सिंह, लुंकिम खोंगसाई, अंश गुप्ता, सिनम माइकल सिंह, इशान रोजारिओ
फॉरवर्ड – इसाक एस्सेल (घाना), फेलिक्स चिडी ओडिली (नाईजीरिया), निश्चल चंद्रा, शुभम रावत, शुभो पॉल, मनवीर सिंह, पीएच रोस्तम सिंह, शैबोरलंग खारपान।

Leave a Reply

Your email address will not be published.